ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने पिछले 24 घंटों में लगभग 150 टन ऑक्सीजन पहुंचाया

ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने पिछले 24 घंटों में लगभग 150 टन ऑक्सीजन पहुंचाया

भारतीय रेल कोविड -19 के खिलाफ अपनी लड़ाई के क्रम में ऑक्सीजन एक्सप्रेस चला रहा है।

क्रमशः महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश के लिए लिक्विड चिकित्सा ऑक्सीजन (एलएमओ) से भरे टैंकरों को लेकर ये ऑक्सीजन एक्सप्रेस रेलगाड़ियां नासिक और लखनऊ पहुंच गई हैं।

इन क्षेत्रों में एलएमओ की आपूर्ति करने के क्रम में कुछ कंटेनरों को नागपुर और वाराणसी में अनलोड किया गया। साथ ही, तीसरी ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने आज सुबह लखनऊ से अपनी यात्रा शुरू की।

आंध्र प्रदेश, दिल्ली जैसे राज्य ऐसी और अधिक रेलगाड़ियां चलाने के लिए रेलवे के साथ परामर्श कर रहे हैं।

यहां इस बात पर गौर किया जा सकता है कि विशाखापत्तनम और बोकारो में भरे गये इन एलएमओ टैंकरों को वर्तमान में भारतीय रेल की रो-रो सेवा के जरिए ले जाया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश में मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरतों को पूरा करने के उद्देश्य से इस रेलगाड़ी की आवाजाही के लिए लखनऊ से वाराणसी के बीच एक ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया। इस रेलगाड़ी द्वारा कुल 270 किलोमीटर की दूरी 62.35 किलोमीटर प्रति घंटे की औसत गति के साथ 4 घंटे 20 मिनट में तय की गई।

अब तक लगभग 150 टन ऑक्सीजन वाले कुल 10 कंटेनरों को ढोया गया है।

इन रेलगाड़ियों के जरिए लंबी दूरी के लिए ऑक्सीजन का परिवहन सड़क परिवहन की तुलना में तेज है। सड़क परिवहन के उलट रेलगाड़ियां 24×7 चलती हैं।

भारतीय रेल ने पिछले वर्ष लॉकडाउन के दौरान भी आवश्यक वस्तुओं का परिवहन किया था तथा आपूर्ति श्रृंखला को बरकरार रखा था और आपात स्थितियों के दौरान राष्ट्र की सेवा जारी रखी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »